Home / Ayurvedic Treatment / मोटापा और मधुमेह नाशक दलिया
मोटापा और मधुमेह नाशक दलिया

मोटापा और मधुमेह नाशक दलिया

डायबिटीज़ और मोटापे दोनों एक दूसरे से जुड़ा हुआ हैं और वे एक-दूसरे को बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, इन दोनों बीमारियों का इलाज अंग्रेजी दवाओं द्वारा नहीं किया जा सकता है।
उचित आहार, व्यायाम, योग और आयुर्वेद ही  एकमात्र विकल्प है मोटापे और मधुमेह से छुटकारा  पाने का । इसके अलावा आपका खानपान बहुत ही महत्ववपूर्ण रोल अदा  करता है मोटापे और मधुमेह को नियंत्रित करने में, इस लेख में हम आपको बताने जा रहे है की बहुत ही काम मेहनत  करके आप कैसे मोटापा और मधुमेह नाशक दलिया बना सकते हैं, इसका नियमित सेवन आपके लिए बहुत ही लाभकारी होगा

सामग्री :

गेंहू – ५०० ग्राम
चावल – ५०० ग्राम
बाजरा – ५०० ग्राम
साबुत मूंग – ५०० ग्राम

सभी को उपरोक्त मात्रा में लेकर, भूनकर दलिया बना लें | इसमें अजवाइन २० ग्राम तथा सफ़ेद  तिल  ५० ग्राम, ये दोनों चीजे भी मिला लें
आवश्यकतानुसार लगभग ५० ग्राम दलिए को ४०० मिली पानी में डालकर पकाये, स्वाद अनुसार सब्जियां व हल्का नमक मिला लें|

नियमित रूप से १५-३० दिन तक इसी तरह दलिया बनाकर सेवन करें , मधुमेह व मोटापा कम करने में बहुत ही कारगर साबित होगा|

मोटापे से पीड़ित ह्रदय रोगी इस दलिया का सेवन कर निरपवादरूप से अपना वजन काम कर सकते हैं |

खीरा, करेला  व् टमाटर का रस मधुमेह के लिए सर्वश्रेष्ठ है |
मोटापा, कब्ज़, कोलस्ट्राल, चर्मरोग, एवं कैंसर जैसे रोगों में गोमूत्र अर्क सर्वश्रेष्ठ औषधि है|”

व्यायाम और गतिविधि

शारीरिक गतिविधि या व्यायाम मोटापे उपचार का एक अनिवार्य हिस्सा है। ज्यादातर लोग जो एक वर्ष से अधिक समय के लिए अपना वजन कम करने में सक्षम होते हैं, नियमित व्यायाम भी करते हैं, यहाँ तक की  सुबह में सिर्फ चलने से और सूर्यनमस्कार जैसे योगाभ्यास से आपको आश्चर्यजनक परिणाम देखने की मिल सकते हैं |

अपनी गतिविधि स्तर को बढ़ावा देने के लिए:

व्यायाम करें। अधिक वजन वाले या मोटापे वाले लोगों को वजन कम करने के लिए या सामान्य वजन की मात्रा को कम रखने के लिए मध्यम-तीव्रता वाली शारीरिक गतिविधि के कम से कम 150 मिनट की आवश्यकता होती है। अधिक महत्वपूर्ण वजन कम करने के लिए आपको एक हफ्ते में 300 मिनट या इससे अधिक व्यायाम करना पड़ सकता है आप को धीरे-धीरे उस राशि में धीरे-धीरे बढ़ाना होगा जो आप अपनी धीरज और फिटनेस में सुधार करते हैं।
 

चलते रहो। यद्यपि नियमित एरोबिक व्यायाम कैलोरी को जलाने और अतिरिक्त वजन कम करने का सबसे कारगर तरीका है, फिर भी कोई अतिरिक्त गतिविधि कैलोरी को जलाने में मदद करती है। अपने दिन के दौरान साधारण परिवर्तन करना बड़े लाभों को जोड़ सकता है। दुकान के प्रवेश द्वार से आगे की तरफ, अपने घर के काम, बगीचे को ऊपर उठाना, उठकर समय-समय पर घूमते रहें, और एक दिन की अवधि में कितने कदम उठाते हैं, यह जानने के लिए एक पेडीमीटर पहनें।

About Dr. Anil

Dr. Anil Kumar is an experienced Ayurveda and herbal physician. With more than 15 years of practice in Ayurvedic & herbal medicines, he has made many successful stories to share with you. The focus of his clinical practice is to ensure the suitability, tolerance, efficacy, and safety of natural, ayurvedic and herbal medicines. Through website Aayurclinic.in, he shares his clinical experience and wisdom about natural, Ayurveda and herbal science for helping people as well as doctors to understand the conditions better, When, where and how to use the herbal medicine very effectively.

Check Also

आयुर्वेद के अनुसार विरुद्ध आहार

आयुर्वेद के अनुसार विरुद्ध आहार “Opposite Meal /Foods According to Ayurveda”

आयुर्वेद के अनुसार विरुद्ध आहार  | “Opposite Meal /Foods According to Ayurveda” सबसे पहले ये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *